चुनाव से पहले मामाजी की घोषणा 2 लाख पदों पर पढे-लिखे बेरोजगारों को नौकरी – MP Job News

MP Job News : मध्य प्रदेश में एक महत्वपूर्ण खबर सामने आ रही है। यह खबर युवाओं के लिए विशेष रूप से महत्वपूर्ण है क्योंकि मध्य प्रदेश सरकार ने आईटी क्षेत्र में भविष्य में एक बड़ा निवेश करने की योजना बनाई है। यह निवेश अगले पांच सालों में 10,000 करोड़ रुपये का होगा और इसके परिणामस्वरूप दो लाख से अधिक नई नौकरियां सृजित की जाएंगी। इसे प्राप्त करने के लिए मध्य प्रदेश सरकार ने एक नई आईटी पॉलिसी तैयार की है, जिसका नाम है “मध्य प्रदेश आईटी आईटीईएस और ईएसडीएम” यह नई आईटी पॉलिसी के मुख्य उद्देश्यों में से एक है निवेश को प्रोत्साहित करना। सरकार की इस नीति के अनुसार, आईटी क्षेत्र में निवेश करने के लिए आवश्यक बुनियादी ढांचा प्रदान किया जाएगा। यह ढांचा नवाचार, रोजगार, और उद्योगों के लिए आवश्यक होगा।

MP Job News: मामाजी की 2 लाख पदों पर नौकरी की तैयारी

इस नीति के अनुसार, इस राज्य में 10 मिलियन वर्ग फुट के आईटी, ईएसडीएम (इंफ्रास्ट्रक्चर स्पेस) का निर्माण किया जाएगा। इससे प्राथमिकता दी जाएगी कि राज्य में अत्याधुनिक आईटी पार्क भवन की सुविधाएं उपलब्ध हों। इस आईटी पार्क के माध्यम से, राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में अनुसंधान और विकास की गतिविधियों को बढ़ावा दिया जाएगा। यह आईटी पार्क भवन उन्नत और आधुनिक सुविधाओं के साथ विशेषता से योजित किया जाएगा ताकि इसे उद्योग के समक्ष प्रभावी रूप से प्रस्तुत किया जा सके।

इस ड्राफ्ट नीति में नवीनतम विशेषताएं प्रस्तुत की गई हैं जो उद्योग के सामने आने वाली महत्वपूर्ण चुनौतियों का समाधान भी सुझाएगी। इसके माध्यम से नवाचारित तकनीकी समाधानों, वित्तीय व्यवस्थाओं, विपणन रणनीतियों, प्रबंधन प्रक्रियाओं, संचार प्रणालियों और कार्य संगठन के क्षेत्र में अद्यतित और अग्रणी विचारों को प्रोत्साहित किया जाएगा। इससे उद्योग सेक्टर में नए और स्वावलंबीकृत समाधानों का विकास होगा जो राज्य के आर्थिक और तकनीकी विकास को समर्पित होंगे।

क्या होगा नीति का लक्ष्य

रोजगार सृजन सहायता नीति नीति व्यवसायों को उनके संचालन की स्थापना में मदद करने के लिए किराए में सहायता और रोजगार सृजन को बढ़ावा देने का एक माध्यम है। इस नीति के माध्यम से, प्रतिष्ठानों को विभिन्न प्रोत्साहन के माध्यम से सहायता प्रदान की जाती है जो टेस्टिंग, कैलिब्रेशन प्रयोगशालाओं, गुणवत्ता प्रमाणन, पेटेंटिंग, स्टैंडअलोन शोध और विकास इकाइयों का समर्थन करने में मदद करते हैं। इससे अनुसंधान और विकास गतिविधियों को प्रोत्साहित किया जाता है।

ड्राफ्ट पॉलिसी में एक विशेष ध्यान डेटा सेंटर इकाइयों के प्रति दिया जाएगा और उन्हें आकर्षित करने के लिए विभिन्न वित्तीय प्रोत्साहन प्रावधान किए गए हैं। इससे डेटा सेंटर्स को प्राथमिकता मिलती है और वे नवीनतम इंफ्रास्ट्रक्चर, तकनीकी सुविधाएं और अन्य आवश्यक संसाधनों के विकास के लिए आवंटित किए जाने वाले निवेश का लाभ उठा सकते हैं।

Follow Google | Join Telegram

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top